Mar 27, 2016

Update HTET detail for the post of TGT haryana

Mar 24, 2016

Indian Accounting Standards

Indian Accounting Standards

Mar 23, 2016

Admit Card for HSSC PGT Examination March 2016 (Hindi & English posts)

Mar 13, 2016

ओपन स्कूल की परीक्षाएं एक अप्रैल से

ओपन स्कूल की परीक्षाएं एक अप्रैल से
जागरण संवाददाता, फरीदाबाद :
हरियाणा शिक्षा बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की ओपन परीक्षाएं एक अप्रैल से शुरू होंगी। बोर्ड ने डेटशीट जारी कर वेबसाइट पर भी अपलोड कर दिया है। ओपन परीक्षाएं देने वाले विद्यार्थी शिक्षा विभाग की वेबसाइट से भी परीक्षाओं के बारे में जानकारी ले सकते हैं।
बता दें कि आठ मार्च से हरियाणा शिक्षा बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की नियमित कक्षाओं में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की परीक्षाएं चल रही हैं। बहुत से छात्र ओपन परीक्षाएं देते हैं, जो नियमित रूप से स्कूल नहीं जाते। घर बैठकर ही परीक्षा का आवेदन फॉर्म भर देते हैं। अब ओपन परीक्षाओं की डेटशीट जारी होने के बाद शिक्षा विभाग की ओर से भी सेंटर बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। ओपन स्कूल परीक्षा में दसवीं का पहला पेपर ¨हदी तो बारहवीं का अंग्रेजी का होगा। ओपन स्कूल की परीक्षाओं में नकल के अधिक मामले सामने आते है। ऐसे में बोर्ड नकल के मामलों को रोकने के लिए उड़नदस्ते गठित करने की तैयारी कर रहा है।
------------------
दसवीं कक्षा की डेटशीट
एक अप्रैल-¨हदी
चार अप्रैल-अंग्रेजी
छह अप्रैल- गणित
आठ अप्रैल-विज्ञान
11 अप्रैल- समाजिक विज्ञान
12 अप्रैल-संस्कृत
---
बारहवीं कक्षा की डेटशीट
एक -अंग्रेजी
दो- गृह विज्ञान
चार- ¨हदी
पांच- राजनीतिक विज्ञान
छह-लोक प्रशासन
सात -अर्थशास्त्र
आठ- समाजिक विज्ञान
नौ- अकाउंट
11- भौतिक विज्ञान
12- कंप्यूटर विज्ञान
16-इतिहास
18-पंजाबी
19-गणित
22-संस्कृत

Mar 12, 2016

इसको जानना बहुत जरूरी है अब याद ही करो लो !!

1. एक भारतीय नोट पर 17 भाषाएँ लिखी होती हैं।
2. कपालेश्वर महादेव मन्दिर शिव जी का एक मात्र मन्दिर है जहाँ उनके साथ नन्दी नहीं हैं।
3. भारत दुनिया का एक मात्र ऐसा देश है जहाँ शेर और चीता दोनों पाये जाते हैं।
4. भारत का राष्ट्रगान सब्से पहले इंग्लैंड मे सन 1911 मे गाया गया था।
5. कम्बोडिया मे विश्व का सबसे बड़ा मन्दिर अंकोरवाट मन्दिर है।
6. आई. ए. एस. पास करने वाले प्रथम भारतीय सत्येन्द्र नाथ टैगोर थे, जो गुरु रविन्द्र नाथ टैगोर के भाई थे।
7. पोलर भालू एक घन्टे में 25 मील तक दौड़ते हैं, और 6 फ़ीट तक कूद सकते हैं।
8. एक सैलफ़िश 109 किमी० प्रति घन्टे की रफ़्तार से तैर सकती है, अतः यह सबसे तेज़ तैरने वाला जीव है।
9...सन 1885 सबसे पहली मोटर-कार का निर्माण कार्ल बेन्ज़ (जर्मनी) ने किया था।
कृपया इस पोस्ट को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें ।।

यूनेस्को की विश्व विरासत में शामिल भारतीय धरोहर स्थल -


1. ताजमहल - उत्तर प्रदेश (1983)
2. आगरा का किला - उत्तर प्रदेश (1983)
3. अजंता की गुफाएं - महाराष्ट्र (1983)
4. एलोरा की गुफाएं - महाराष्ट्र (1983)
5. कोणार्क का सूर्य मंदिर - ओडिशा (1984)
6. महाबलिपुरम् का स्मारक समूह -तमिलनाडू (1984)
7. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान - असोम (1985)
8. मानस वन्य जीव अभयारण्य - असोम (1985)
9. केवला देव राष्ट्रीय उद्यान - राजस्थान (1985)
10. पुराने गोवा के चर्च व मठ - गोवा (1986)
11. मुगल सिटी, फतेहपुर सिकरी - उत्तर प्रदेश (1986)
12. हम्पी स्मारक समूह - कर्नाटक (1986)
13. खजुराहो मंदिर - मध्यप्रदेश (1986)
14. एलीफेंटा की गुफाएं - महाराष्ट्र (1987)
15. पट्टदकल स्मारक समूह - कर्नाटक (1987)
16. सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान - प. बंगाल (1987)
17. वृहदेश्वर मंदिर तंजावुर - तमिलनाडू (1987)
18. नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान - उत्तराखंड (1988)
19. सांची का बौद्ध स्मारक - मध्यप्रदेश (1989)
21. हुमायूँ का मकबरा - दिल्ली (1993)
22. दार्जिलिंग हिमालयन रेल - पश्चिम बंगाल (1999)
23. महाबोधी मंदिर, गया - बिहार (2002)
24. भीमबेटका की गुफाएँ - मध्य प्रदेश (2003)
25. गंगई कोड़ा चोलपुरम् मन्दिर - तमिलनाडु (2004)
26. एरावतेश्वर मन्दिर - तमिलनाडु (2004)
27. छत्रपति शिवाजी टर्मिनल - महाराष्ट्र (2004)
28. नीलगिरि माउंटेन रेलवे - तमिलनाडु (2005)
29. फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान - उत्तराखंड (2005)
30. दिल्ली का लाल किला - दिल्ली (2007)
31. कालका शिमला रेलवे -हिमाचल प्रदेश (2008)
32. सिमलीपाल अभ्यारण्य - ओडिशा (2009)
33. नोकरेक अभ्यारण्य - मेघालय (2009)
34. भितरकनिका उद्यान - ओडिशा (2010)
35. जयपुर का जंतर-मन्तर - राजस्थान (2010)
36. पश्चिम घाट (2012)
37. आमेर का किला - राजस्थान (2013)
38. रणथंभोर किला - राजस्थान (2013)
39. कुंभलगढ़ किला - राजस्थान (2013)
40. सोनार किला - राजस्थान (2013)
41. चित्तौड़गढ़ किला - राजस्थान (2013)
42. गागरोन किला - राजस्थान (2013)
43. रानी का वाव - गुजरात (2014)
44. ग्रेट हिमालय राष्ट्रीय उद्यान - हिमाचल प्रदेश (2014)

Mar 11, 2016

शिक्षक भर्ती में अनुभव के 16 अंको पर संकट, हाईकोर्ट ने सरकार से किया जवाब तलब।





चंडीगढ़: भाजपा सरकार द्वारा पीजीटी व टीजीटी शिक्षकों की रेगुलर भर्ती में गैस्ट टीचर्स को एडजस्ट करने के उद्देश्य से 8 साल के टीचिंग अनुभव के 16 अंक देने के निर्णय पर अब हाईकोर्ट ने सवाल उठाते हुए सरकार से जवाब तलब किया है। अध्यापक पात्रता परीक्षा पास अनीता व 22 अन्य पात्र अध्यापकों ने सरकार द्वारा रेगुलर शिक्षक भर्ती में टीचिंग अनुभव के नाम पर अत्यधिक 16 अंक दिए जाने को सविंधान की धारा 14 व 16 का उल्लंघन बताते हुए एक याचिका दायर की है। जिस पर शुक्रवार को हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए हरियाणा सरकार, शिक्षा विभाग व हरियाणा स्टॉफ सेलेक्शन कमीशन को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।
याचिका में आरोप लगाया गया है कि रेगुलर शिक्षक भर्ती में सिर्फ गैस्ट टीचर्स को ज्यादा से ज्यादा एडजेस्ट करने के उद्देश्य से हरियाणा सरकार ने 8 साल के टीचिंग अनुभव के 16 अंक देने का निर्णय लिया है। याचिकाकर्ताओं की और से अधिवक्ता जगबीर मलिक ने बहस करते हुए कहा कि वर्ष 2009 में भी तत्कालीन हुड्डा सरकार ने गैस्ट टीचर्स को बैक डोर से रेगुलर करने के उद्देश्य से उनको अनुभव के 24 अंक व अध्यापक पात्रता परीक्षा में विशेष छूट दी थी जिसे पहले हाईकोर्ट ने व बाद में सुप्रीम कोर्ट ने भी रद्द करते हुए सरकार के उस निर्णय पर कड़ी टिप्पणियॉ की थी। अब फिर से भाजपा सरकार गैस्ट टीचर्स के दबाव में उनको रेगुलर भर्ती में एडजेस्ट करने के लिए 8 साल के टीचिंग अनुभव के 16 अंक देने जा रही है क्योकि सभी गैस्ट टीचर्स को 8 साल पुरे हो चुके है इसलिए उनके 16 अंक तो पक्के हो ही गए है जबकि अन्य अनुभव न रखने वाले उम्मीदवारों को इससे भर्ती प्रक्रिया से ही बाहर होना पड़ेगा। अगर 20 पदों के लिए कुल 40 उम्मीदवार दावेदार हो और उनमे से 20 उम्मीदवारों के पास 8 साल का टीचिंग अनुभव है तो अनुभव के 16 अंकों के बुते उन 20 उम्मीदवारों का ही चयन हो जायेगा और बगैर अनुभव वाले अन्य योग्य उम्मीदवार चयन से वंचित हो जायेगें। हाईकोर्ट में यह भी तथ्य रखा गया कि हरियाणा सरकार अन्य विभागों में तो 8 साल के कार्य अनुभव के सिर्फ 8 अंक दे रही है जबकि शिक्षक भर्ती में सिर्फ गैस्ट टीचर्स को एडजेस्ट करने की मंशा से 8 साल के अनुभव के दुगुने यानि 16 अंक दे रही है। याचिका में यह तथ्य भी दिया गया है कि विगत शिक्षक भर्ती में भी गैस्ट टीचर्स को एडजेस्ट करने के उद्देश्य से 4 साल के अनुभव के आधार पर बिना एचटेट व बी.एड योग्यता वाले उम्मीदवारों को मौका दिया गया था और मामला अभी भी सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। ऐसे में अब फिर से 16 अंकों के नाम पर गैस्ट टीचर्स को गैरवाजिब लाभ देना योग्य उम्मीदवारों से भारी अन्याय है। मामले में सुनवाई के बाद जस्टिस रितु बाहरी की बेंच ने सबंधित पक्षों को नोटिस जारी कर 29 अप्रैल तक जवाब तलब किया है।

पीजीटी कॉमर्स और इतिहास की परीक्षा के लिए बनाए गए 25 केंद्र

जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : हरियाणा स्टाफ सलेक्शन कमीशन पंचकूला की ओर से 13 मार्च को होने वाली पीजीटी कॉमर्स और पीजीटी हिस्ट्री परीक्षा के लिए अंबाला में 25 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। प्रात: 10.30 बजे से 11.45 बजे तक तथा दोपहर बाद 3 बजे से सायं 4.15 बजे तक यह परीक्षाएं आयोजित की जाएगी। परीक्षाओं के दौरान कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने व सुचारु रूप से संपन्न करवाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। यह जानकारी उपमंडल अधिकारी नागरिक कैप्टन शक्ति ¨सह ने दी। वह बृहस्पतिवार बैठक में प्रबंधों का जायजा ले रहे थे।
उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कहा कि वे निष्ठा, लग्न और ईमानदारी के साथ अपने दायित्व का निर्वहन करें। इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी जिले ¨सह अत्री ने परीक्षा को सुचारू रूप से सम्पन्न करवाने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा किए गए प्रबंधों की विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर बैठक में नगराधीश प्रतिमा चौधरी, एसीपी राजकुमार वालिया, बीडीपीओ रविन्द्र कुमार सहित हरियाणा स्टाफ सलेक्शन कमीशन पंचकूला के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।
इन स्कूलों में बनाए गए केंद्र
अंबाला शहर में परीक्षा केंद्रों में पीकेआर जैन सीनियर सेकेंडरी स्कूल के ब्लॉक ए, ब्लॉक बी, पीकेआर जैन पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ब्लॉक ए व ब्लॉक बी, सोहन लाल डीएवी गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल ब्लॉक ए व ब्लॉक बी, एसए जैन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ब्लॉक ए शामिल हैं। इनके साथ ही जीआर एसडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल अंबाला सिटी ब्लॉक ए, डीएवी कालेज के ब्लॉक ए व ब्लॉक बी, एसए जैन मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल ब्लॉक ए व ब्लॉक बी, पुलिस डीएवी पब्लिक स्कूल, आर्य स्कूल, राजकीय बहुतकनीकी संस्थान ब्लॉक ए व ब्लॉक बीए कल्पना चावला राजकीय महिला बहुतकनीकी संस्थान में केंद्र बनाए गए हैं। इनके अलावा अंबाला छावनी में फरूखा खालसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल का ब्लॉक ए व ब्लॉक बी, बीडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल के लार्ड महावीर जैन पब्लिक स्कूल, एसडी विद्या स्कूल के ब्लॉक ए व ब्लॉक बी, एसडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल हिल रोड, मेजर आरएन कपूर पब्लिक स्कूल में केंद्र स्थापित किये गये हैं

PGT : स्टेट प्लान में शामिल हुए 7223 पीजीटी

अंबाला : 7223 पोस्ट ग्रेजुएट टीचर को राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा आयोग से हटाकर स्टेट प्लान में शामिल कर लिया गया है। पहले इन शिक्षकों को 60 फीसद वेतन केंद्र और 40 फीसद वेतन राज्य सरकार देती थी। केंद्र से पैसा नहीं आने के कारण इन शिक्षकों का चार से छह माह का वेतन अटका पड़ा था। उन्हें स्टेट प्लान में शामिल करने से प्रदेश सरकार पर हर माह करीब 17 करोड़ 75 लाख रुपये का अतिरिक्त भार पड़ेगा। बुधवार देर शाम शिक्षा विभाग ने इन सभी शिक्षकों को स्टेट प्लान के तहत शामिल कर सभी शिक्षा अधिकारियों को स्टेट के खाते से इन्हें दूसरे शिक्षकों की तरह वेतन जारी करने का निर्देश दिया था। बृहस्पतिवार को कुछ जिलों ने आदेश की पालना करते हुए इन शिक्षकों का वेतन जारी कर दिया। साथ ही बकाया वेतन के लिए सरकार से बजट की डिमांड भी कर दी। इन शिक्षकों के करीब 300 करोड़ रुपये सरकार पर बकाया हैं।
संघर्ष के बाद हुई थी भर्ती :
वर्ष 2010 में प्रदेश सरकार ने विभिन्न पदों के लिए पीजीटी भर्ती करने का शपथपत्र कोर्ट में जमा कराया था। मामले में तिलक राज और अन्य ने कोर्ट में केस डालकर भर्ती कराने की मांग की थी, लेकिन सरकार अपने निर्धारित समय पर भर्ती नहीं करा पाई। मामला फिर कोर्ट में गया। वर्ष 2012 में प्रदेश सरकार ने 14 हजार 216 पीजीटी पदों के लिए विज्ञाप्ति जारी की।

VLDA : वीएलडीए परीक्षा 20 को प्रशासन ने कसी कमर

जागरण संवाददाता, कैथल
जिलाधीश निखिल गजराज ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा 20 मार्च को प्रात:कालीन एवं सांयकालीन सत्रों में आयोजित की जाने वाली सांख्यिकी सहायक एवं वीएलडीए की परीक्षाओं को शांतिपूर्वक एवं पारदर्शी तरीके से संपन्न करवाने के लिए जिला में स्थित सभी परीक्षा केंद्रों की 200 मीटर की परिधि में दंड संहिता 1973 की धारा 144 लागू करने के आदेश जारी किए हैं। इन आदेशों के तहत 20 मार्च रविवार को प्रात:कालीन सत्र में प्रात: साढ़े 10 बजे से 12 बजे तक तथा सांय कालीन सत्र में दोपहर बाद तीन बजे से साढ़े चार बजे तक परीक्षा केंद्रों की 200 मीटर की परिधि में पांच या इससे अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्रों की 200 मीटर की परिधि में स्थित फोटो स्टेट दुकानें भी बंद रहेंगी। इन आदेशों का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

16 मार्च को दोबारा टाइपिंग टेस्ट देंगे लिपिक

फतेहाबाद: शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने उन लिपिकों के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं जिन्होंने वर्ष 2014-15 में टाइपिंग टेस्ट की परीक्षा पास की थी। अब उन्हें इस टेस्ट से दोबारा गुजरना होगा। शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों ने 36 लिपिकों को दोबारा टाइप टेस्ट परीक्षा देने के लिए आदेश दिये हैं। आदेशानुसार पत्र की कॉपी भी जिला शिक्षा अधिकारी को भेज दी गई है।
जिले के 36 लिपिकों ने वर्ष 2014 की 11 दिसंबर और वर्ष 2015 की 16 जनवरी,9 व 10 फरवरी टाइप टेस्ट पास किया था। टाइप पास करने के बाद किसी ने विजिलेंस को शिकायत दी कि लिपिकों को गलत तरीके से पास किया गया है।
इस मामले की जांच करने होते हुए शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों ने आदेश सुनाया है कि पास हुए लिपिक को दोबारा टाइप टेस्ट की परीक्षा देनी होगी। लिपिकों का टेस्ट निदेशालय विद्यालय शिक्षा हरियाणा पंचकुला में 16 मार्च को सुबह 11 बजे होगा। इसके लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र भी भेज दिया है।
"शिक्षा विभाग के आदेशानुसार जिले के 36 लिपिक है। जिन्हें दोबारा टाइप टेस्ट परीक्षा देनी है। यह परीक्षा 16 मार्च सुबह 11 बजे पंचकुला कार्यालय में होगी। यह आदेश सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को जारी कर दिये गये है। " --डॉ. यज्ञदत्त वर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी।

हरियाणा के कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतन नहीं

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़ : भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार में जी माधवन के नेतृत्व में बने वेतन विसंगति आयोग ने डेढ़ साल बाद गोलमोल रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है। आयोग ने 209 पन्नों की रिपोर्ट में पंजाब व हरियाणा के कर्मचारियों के वेतनमान और भत्ताें की तुलना तो की है, लेकिन पंजाब के समान वेतनमान की सीधे तौर पर कोई सिफारिश नहीं की। राज्य के कर्मचारी काफी लंबे समय से पंजाब के समान वेतनमान देने की मांग करते आ रहे हैं।1 आयोग की दलील है कि सरकार ने सिर्फ दोनों राज्यों के वेतनमान व भत्ताें की तुलना कर रिपोर्ट देने को कहा था। इसलिए पंजाब के समान वेतनमान देने की सीधे सिफारिश नहीं की जा सकती थी। अब फैसला सरकार को लेना है। जी माधवन हुड्डा सरकार के पहले कार्यकाल में मुख्य सचिव भी रह चुके हैं। 11 सितंबर 2014 को उनके नेतृत्व में वेतन विसंगति आयोग बनाया गया था। भाजपा सरकार ने उसे एक्सटेंशन दी थी। माधवन ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल, वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल को किताब की शक्ल में अपनी यह रिपोर्ट सौंपी है। उन्होंने रिपोर्ट में करीब 60 हजार कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां दूर करने के लिए सरकार को सुझाव दिए हैं। हरियाणा और पंजाब के कर्मचारियों के वेतनमान और भत्ताें को आधार मानते हुए यह रिपोर्ट तैयार की गई है। सरकार इस रिपोर्ट को लागू करती है तो नए ज्वाइन करने वाले कर्मियों को अधिक फायदा मिलेगा। कई भत्तों के मामले में पहले से ही हरियाणा पंजाब से बेहतर है।1सातवें वेतन आयोग में लाभ का प्रारूप तैयार 1रिपोर्ट में छठे वेतन आयोग में लाभ से वंचित रहे कर्मचारियों को प्रस्तावित सातवें वेतन आयोग में लाभ देने के लिए भी खास प्रारूप तैयार किया गया है।1बोर्ड निगमों के कर्मचारियों की राय ही नहीं ली 1हरियाणा के बोर्ड एवं निगमों के कर्मचारियों की वेतन विसंगतियों पर आयोग ने कोई गौर नहीं किया है। विश्वविद्यालयों के कर्मचारी संगठनों को भी बात रखने के लिए आयोग ने नहीं बुलाया है। 1आयोग को नहीं करनी थी पंजाब के समान वेतनमान की सिफारिश 1आयोग ने पंजाब में 1986, 1996 और 2006 में विभिन्न पदों पर पे स्केल के बारे में पता लगाया तथा उसका हरियाणा में कर्मचारियों को दिए जा रहे पे स्केल पर विश्लेषण किया। आयोग के एक सदस्य ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि आयोग को पंजाब के समान वेतनमान देने की सिफारिश करने को नहीं कहा गया था। इस तरह अब सरकार को रिपोर्ट पर फैसला लेना है।1हमने अपना काम पूरा कर दिया 1हमने रिपोर्ट बृहस्पतिवार को सरकार को सौंप दी है। रिपोर्ट में कर्मचारियों की सभी मांगों का बारीकी से अध्ययन किया गया है। इन सिफारिशों के आधार पर सरकार इसे लागू करने के संबंध में अंतिम निर्णय लेगी। हमने अपना काम पूरा कर दिया।

CBSE बोर्ड के 10वीं-12वीं स्टूडेंट के लिए अहम जानकारी

CBSE बोर्ड के 10वीं-12वीं स्टूडेंट के लिए अहम जानकारी
ब्यूरो/अमर उजाला, रोहतक
सीबीएसई बोर्ड के दसवीं और बारहवीं के स्टूडेंट्स के लिए बेहद जरूरी खबर। बोर्ड ने एग्जाम रिजल्ट का समय जारी किया है। सीबीएसई वार्षिक परीक्षाओं के परिणाम मई के आखिरी पखवाड़े या जून की शुरुआत में घोषित होंगे। सीबीएसई की 12वीं और 10वीं की स्कूल और बोर्ड आधारित परीक्षाएं शुरू हो चुकी हैं।
जहां 12वीं की परीक्षाएं 22 अप्रैल तक चलेंगी, वहीं 10वीं की परीक्षाएं 28 मार्च को खत्म होंगी। गौरतलब है कि जिले के करीब 13 परीक्षा केंद्रों पर दोनों कक्षाओं के लगभग सात हजार विद्यार्थी परीक्षा दे रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक विद्यार्थियों की कॉपियों का मूल्यांकन मई के पहले पखवाड़े तक खत्म होगा।
इसके बाद सभी क्षेत्रीय कार्यालयों की ओर से तैयार परिणाम की समीक्षा होगी। बोर्ड अध्यक्ष की बैठक के बाद परिणाम घोषित करने का फैसला लिया जाएगा। इसके अलावा, सीबीएसई अप्रैल और मई में भी व्यस्त रहेगा।
जहां 3 अप्रैल को जेईई मेंस की आफ लाइन परीक्षा होगी। वहीं, 9 और 10 अप्रैल को जेईई मेंस की ही आनलाइन परीक्षा कराएगा। इसके बाद 1 मई को आल इंडिया प्री मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट होगा। जून में बोर्ड जेईई एडवांस परीक्षा का आयोजन करेगा।

MDU रोहतक ने जारी किया एग्जाम का शेड्यूल

MDU रोहतक ने जारी किया एग्जाम का शेड्यूल
अमर उजाला, रोहतक
एमडीयू रोहतक ने विभिन्न कक्षाओं के एग्जाम ‌का शेड्यूल जारी कर दिया है। डेटशीट यूनिवर्सिटी के वेबसाइट पर है। शेड्यूल के तहत एमफिल, पीएचडी कोर्स वर्क प्रथम सेमेस्टर की परीक्षाएं 14 मार्च से होंगी। परीक्षा नियंत्रक डॉ. बी.एस. सिंधु ने बताया कि परीक्षाओं की डेटशीट वेबसाइट पर डाल दी गई है।
प्रेक्टिकल परीक्षाएं 21 से
डीडीई की आईटी, मैनेजमेंट कोर्स की बीसीए, बीबीए, एमसीए, एमबीए, एमएससी कंप्यूटर साइंस (फुल एंड रि-अपीयर) की प्रायोगिक परीक्षाएं 21 से 31 मार्च तक होंगी।
mdurohtak.ac.in

Feb 18, 2016

HPSC Vacancy of Assistant Professor

HPSC Vacancy Details:
Total No. of Posts: 1647
Name of the Posts: Assistant Professor
1. Botany: 42 Posts
2. Bio-Tech: 06 Posts
3. Chemistry: 150 Posts
4. Commerce: 256 Posts
5. Comp. Sc: 167 Posts
6. Def. Studies: 14 Posts
7. Economics: 42 Posts
8. English: 78 Posts
9. Fine Arts: 03 Posts
10. Geography: 171 Posts
11. Geology: 05 Posts
12. Hindi: 112 Posts
13. History: 50 Posts
14. Home Sc.: 12 Posts
15. Mass Comm.: 08 Posts
16. Math: 166 Posts
17. Music (I): 07 Posts
18. Music (V): 06 Posts
19. Philosophy: 01 Post
20. Physical Edu: 09 Posts
21. Physics: 142 Posts
22. Pol. Sc: 44 Posts
23. Psychology: 38 Posts
24. Pub. Admn: 07 Posts
25. Punjabi: 08 Posts
26. Sanskrit: 39 Posts
27. Sociology: 15 Posts
28. Tourism: 09 Posts
29. Zoology: 40 Posts
Age Limit: Candidates age should be between 21-42 years as on 15-03-2016. Age relaxation is applicable as per rules.
Educational Qualification: Candidates should possess Master’s Degree in relevant subject with atleast 55% marks from an Indian University or an equivalent degree from a Foreign University.
Selection Process: Candidates will be selected based on qualification, experience/ screening test & interview.
Important Dates:
Last Date to Apply Online: 15-03-2016.
Last Date for Depositing Fee: 18-03-2016 by 04:00 P.M.

Download Haryana Police Constable Physical Test Date (ALL) & Admit Card

Click Here to Download Haryana Police Constable Physical Test Date (ALL) & Admit Card Will Be Available on 25th February 2016

Feb 17, 2016

Delhi Guest teacher vacancies

NDMC Vacancy Details:
Total No. of Posts: 365
Name of the Post: Guest Teacher
I. Post Graduate Teacher/ Lecturer (Various Subjects): 109 Posts
a. English: 17 Posts
b. Hindi: 11 Posts
c. Maths: 07 Posts
d. History: 12 Posts
e. Political Science: 10 Posts
f. Geography: 11 Posts
g. Economics: 13 Posts
h. Sanskrit: 03 Posts
i. Commerce: 13 Posts
j. Physics: 04 Posts
k. Chemistry: 05 Posts
l. Biology: 03 Posts
II. Post Graduate Teacher/ Lecturer (Physical Education): 06 Posts
III. Post Graduate Teacher (Informatics Practices/ Computer Science): 15 Posts
IV. Trained Graduate Teacher (Various Subjects): 88 Posts
a. English: 26 Posts
b. Maths: 31 Posts
c. Social Science: 14 Posts
d. Science: 17 Posts
V. Trained Graduate Teacher (Modern Indian Language): 41 Posts
a. Hindi: 12 Posts
b. Sanskrit: 22 Posts
c. Urdu: 07 Posts
VI. Assistant Teacher: 106 Posts
a. Primary: 98 Posts
b. Urdu: 08 Posts
Age Limit: Candidates age should be below 36 years for S.No- I & II, 36 years for male & 46 years for female for S.No- III, 30 years for S.No- IV & V and 37 years for S.No- VI. Age relaxation is applicable as per orders/ instructions issued by Govt of India.
Educational Qualification: Candidates should possess Master Degree in the subject concerned from recognized University or Oriental Degree, Degree/ Diploma in training/ Education (B.Ed) for S.No-II, B.E/ B.Tech (Computer Science/ Computer Engg/ Information Technology/ Electronics/ Electronics & Communication) for S.No- III. Candidates should have relevant experience. For more information refer notification.
Important Dates:
Starting Date for Submission of Online Application: 01-02-2016.
Last Date for Submission of Online Application: 22-02-2016 upto 06:00 PM.

Feb 2, 2016

जेबीटी शिक्षकों की भर्ती की तैयारियां

स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती की तैयारियां
जागरण संवाददाता, गुड़गांव: विभाग ने स्कूलों से जेबीटी शिक्षकों के खाली पदों की जानकारी विभिन्न जिलों से मांगी है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि विभाग शिक्षकों की नियुक्ति के बारे में किसी प्रकार की तैयारी कर रहा है। जिला शिक्षा विभाग में इस रिपोर्ट को भेजने की तैयारियां कर रहा है।
शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी जिलों से जेबीटी अध्यापकों के रिक्त पदों के विवरण की प्रोफार्मा अनुसार सूचना मागी है। ताकि स्कूलों में खाली पड़े पदों पर नियुक्ति को लेकर कोई कार्रवाई अमल में लाई जा सके। जेबीटी अध्यापकों के साथ ही सभी जिलों के स्कूलों से अतिथि अध्यापकों के बारे में जानकारी मागी गई है। जिला मौलिक शिक्षा कार्यालय यह सूचना सोमवार को ई-मेल के माध्यम से विभाग को भेजी गई है। मौलिक शिक्षा हरियाणा के निदेशक की ओर से सभी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर जिलों में नियुक्त जेबीटी अध्यापकों के रिक्त पदों का विवरण रोस्टर के आधार पर प्रोफार्मा में भरकर एक फरवरी को शाम चार बजे तक भेजने के आदेश जारी किए थे। पत्र में स्पष्ट किया गया है कि जेबीटी अध्यापकों की रिक्त सूची भेजते समय अतिथि अध्यापकों का रिक्त मानकर जानकारी भेजी जाए। पत्र में निदेशक की ओर से सभी जिलों में कितने अतिथि अध्यापक जेबीटी पद पर कार्यरत है, इसकी जानकारी भी मांगी गई है। विभाग की ओर से पत्र में स्पष्ट किया गया है कि जेबीटी अध्यापकों की सूचना भेजने में कोई कोताही न बरती जाए। उप जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी मुकेश यादव ने बताया कि विभाग की ओर से जेबीटी अध्यापकों के रिक्त पदों के बारे में जो सूचना मागी गई थी, उसको प्रोफार्मा में भरकर भेज दिया गया है। अब विभाग आगे की कार्रवाई करेगा।

Jan 30, 2016

2013 में एचटेट करने वाले करीब पांच हजार उम्मीदवारों के अंगूठे की जांच शुरू

2013 में एचटेट करने वाले करीब पांच हजार उम्मीदवारों के अंगूठे की जांच शुरू
जागरण संवाददाता, भिवानी : वर्ष 2008 व 09 में हुए स्टेट (राज्य पात्रता परीक्षा) की जांच होने व घपला उजागर होने के बाद अब वर्ष 2013 में आयोजित की गई हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा की जांच भी शुरू हो गई है। भिवानी स्थित हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड मुख्यालय पर प्रदेश के पांच हजार से अधिक पात्रता परीक्षा पास उम्मीदवारों को अंगूठा जांच परीक्षा से गुजरना होगा। बृहस्पतिवार को शुरू हुई इस जांच में पहले दो दिन करीब चार सौ उम्मीदवारों ने यह परीक्षा दी।
सूत्र बताते हैं कि प्रदेश सरकार ने 2011 में एचटेट करने वाले उम्मीदवारों की भर्ती की थी। लेकिन वर्ष 2012 में पात्रता परीक्षा नहीं हो पाई और वर्ष 2013 में 2012-13 शिक्षा सत्र के लिए पात्रता परीक्षा आयोजित की गई। इस परीक्षा में पास होने वाले हजारों उम्मीदवारों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर शिक्षक भर्ती में शामिल करने की अपील की थी। इस पर प्रदेश सरकार ने करीब 5 हजार पात्र उम्मीदवारों का सील बंद लिफाफा न्यायालय में पेश कर दिया। अब न्यायाधीश ने इन सभी पात्र अध्यापकों के अंगुठों की जांच करवाने के आदेश दिए हैं। यह जांच 28 जनवरी से भिवानी स्थित बोर्ड मुख्यालय के टीचर होम में शुरू हो गई है। हालांकि कल पंचायत चुनाव की मतगणना थी और इसके बावजूद यह जांच चली। जांच के लिए हर रोज दो सौ उम्मीदवारों को बुलाया जा रहा है। सूत्र बताते हैं कि वर्ष 2011 के पास आउट की जांच लगभग पूरी हो चुकी है और इस जांच में दो फर्जी सर्टिफिकेट पकड़े जा चुके हैं। अब देखना यह है कि 2013 में पास होने वालों की क्या स्थिति रहती है। हालांकि जांच लंबे समय तक चलेगी और आने वाले कुछ दिन और इंतजार करना होगा।
गौरतलब है कि प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2008-09 में हुई स्टेट की जांच पिछले वर्षो के दौरान करवा चुकी है और इस जांच में बड़े पैमाने पर धांधली की रिपोर्ट सार्वजनिक हो चुकी है।

Jan 25, 2016

Rajasthan Nagar Palika Vacancy


Total No. of Posts: 1329
Name of the Post:
I. For Non TSP: 1244 posts
1. Executive Officer-IV: 47 posts
2. Revenue Officer-II: 20 posts
3. Revenue Inspector: 68 posts
4. Assistant Revenue Inspector: 85 posts
5. Solid Waste Manager: 72 posts
6. Health Officer: 26 posts
7. Assistant Engineer (Civil): 50 posts
8. Assistant Engineer (Electrical): 16 posts
9. Assistant Engineer (Mechanical): 09 posts
10. Assistant Engineer (Solid Waste Management): 50 posts
11. Town Planning Assistant: 19 posts
12. Senior Draftsman: 24 posts
13. Assistant Fire Officer: 18 posts
14. Fireman: 562 posts
15. Driver Fire Cum Fire Machine Operator: 178 posts
II. For TSP: 85 posts
1. Revenue Inspector: 05 posts
2. Assistant Revenue Inspector: 07 posts
3. Solid Waste Manager: 06 posts
4. Assistant Fire Officer: 01 post
5. Fireman: 48 posts
6. Driver Fire Cum Fire Machine Operator: 15 posts
7. Town Planning Assistant: 01 post
8. Senior Draftsman: 02 posts
Age Limit: Candidates age should be between 21 to 35 years for Post No.1 to 12 & 15, 18 to 35 years for Post No.13 & 14 as on 01-01-2016. 05 years of age relaxation is admissible for SC/ ST/ OBC/ Special BC (Non Creamy layer) Male candidates of Rajasthan. Refer the notification for complete details.
Educational Qualification: Candidates should possess Degree/ Equivalent for Executive Officer-IV, Revenue Officer-II, Revenue Inspector, Assistant Revenue Inspector, Solid Waste Manager, MBBS & D.Ph.D. degree for Health Officer, B.E. in Civil Engineering for Asst Engineer (Civil), B.E. in Electrical Engineering for Asst Engineer (Electrical), B.E in Mechanical Engineering for Asst Engineer (Mechanical), Master’s Degree in Environmental Engineering after bachelor’s degree either in Biotechnology or Chemical or Civil or Mining or Environmental or Textile Engineering for Asst Engineer ((Solid Waste Management), Secondary/ Equivalent with 06 months Basic Elementary Fireman Training/ Equivalent course for Fireman, Secondary with 06 months Fire Diploma and 03 years experience in heavy and light vehicle driving for Driver Fire Cum Fire Machine Operator. Refer the notification for remaining posts.
Selection Process: Selection will be based on Online Exam.
Last Date for Online Registration 03-02-2016 till 12:00 Midnight

Jan 24, 2016

B.Ed Admit Cards Jan 2016


B.Ed Reappear Admit card Jan , 2016

Click here to Download Admit Card 

Jan 22, 2016

HTET पात्रता परीक्षा : पुराने परीक्षा केंद्रों में नहीं बैठ सकेंगे उम्मीदवार

HTET पात्रता परीक्षा : पुराने परीक्षा केंद्रों में नहीं बैठ सकेंगे उम्मीदवार
जागरण संवाददाता, भिवानी:
हरियाणा पात्रता परीक्षा के लेवल-3 की पुन: परीक्षा को लेकर शिक्षा बोर्ड ने तैयारियां तेज कर दी है। 20 फरवरी को होने वाली परीक्षा में इस बार परीक्षार्थियों को घरेलू जिलों में तो टेस्ट देने का मौका मिलेगा पर पुराने सेंटर में नहीं बैठाया जाएगा। प्रदेश में इस बार भी कुल 470 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।
बता दें कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने प्रदेश में हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा 14 व 15 नवंबर 2015 को आयोजित की थी। 14 नवंबर को पहले ही दिन लेवल-3 की परीक्षा आयोजित की गई और पहले ही दिन सोनीपत से प्रश्न पत्र लीक हो गया था। इस कारण बोर्ड प्रशासन को परीक्षा रद करनी पड़ी थी। प्रश्न पत्र लीक प्रकरण की जांच जहां जींद एसपी कर रहे हैं, वहीं बोर्ड प्रशासन भी अपने स्तर पर कर रहा है। इस बीच बोर्ड प्रशासन ने लेवल-3 की परीक्षा 20 फरवरी को आयोजित करने की घोषणा कर दी और इस परीक्षा की तैयारियां बोर्ड प्रशासन द्वारा जोर शोर से शुरू कर दी गई हैं। बोर्ड ने प्रदेश में इस बार भी परीक्षा केंद्रों की संख्या 470 ही रखी है। इनमें से 413 परीक्षा केंद्र आफ लाइन व 57 परीक्षा केंद्र सीबीटी के लिए बनाए गए हैं। सीबीटी (कंप्यूटर आधारित टेस्ट) के परीक्षा केंद्र हरियाणा के अलावा चंडीगढ़ व दिल्ली में भी बनाए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि इस बार बोर्ड प्रशासन ने सभी परीक्षार्थियों को घरेलू जिलों में तो बैठाया पर उन्हें पूर्व में अलाट किए गए परीक्षा केंद्रों को बदल दिया है, ताकि गड़बड़ी को रोका जा सके।
1 लाख 37 हजार 868 परीक्षार्थियों की होगी पुन: परीक्षा
14 नवंबर को प्रदेश के एक लाख 37 हजार 868 परीक्षार्थी लेवल-3 की परीक्षा में बैठे थे। लेकिन प्रश्न पत्र लीक होने के कारण इन परीक्षार्थियों को अब दोबारा से परीक्षा देनी होगी।
जिलेवार परीक्षार्थियों की स्थिति
अंबाला 4683
भिवानी 10225
फरीदाबाद 6223
फतेहाबाद 4128
गुड़गांव 7450
हिसार 11652
झज्जर 5783
जींद 7230
करनाल 5914
कैथल 5421
कुरूक्षेत्र 6802
म.गढ़ 7298
पंचकुला 3414
पानीपत 4840
रेवाड़ी 7827
रोहतक 11893
सिरसा 7551
सोनीपत 8667
यमुनानगर 4312
मेवात 874
पलवल 4145
चंडीगढ़ 120
दिल्ली 1290
मोहाली 120
कुल 137868

गर्म मौसम में छुट्टी, सर्दी में बच्चे जा रहे स्कूल

वाह रे शिक्षा विभाग, गर्म मौसम में छुट्टी, सर्दी में बच्चे जा रहे स्कूल
अमर उजाला, रोहतक
शिक्षा विभाग के नियम भी अजीबो-गरीब हैं। कैलेंडर के अनुसार, सर्दी से पहले ही दो सप्ताह की छुट्टी डाल दी गई तो अब लगातार बढ़ रही ठंड में बच्चों को स्कूल जाना पड़ रहा है। हालात ये हैं कि कोहरे और शीत लहर के बीच सुबह-सुबह मासूम ठंड से ठिठुरते हुए स्कूलों में जा रहे हैं, लेकिन इन मासूमों की सुध लेने वाला कोई नहीं।
सर्दी अधिक पड़ने पर हर वर्ष स्कूलों में छुट्टी कर दी जाती है। प्रदेश में शिक्षा विभाग के कैलेंडर पर नजर डालें तो इस वर्ष भी स्कूलों में 25 दिसंबर से 8 जनवरी तक छुट्टी रही। हालांकि इस अवधि में मौसम का मिजाज थोड़ा ठीक रहा और तापमान भी सामान्य चलता रहा। लेकिन पिछले कई दिनों से तापमान रोजाना एक या दो डिग्री नीचे गिर रहा है।
दिनभर कोहरे और शीत लहर के कारण लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। ऐसी कंपकंपाती ठंड में अब छोटे-छोटे बच्चों को स्कूल जाना पड़ रहा है। ठंड बढ़ने के कारण हर वर्ष छुट्टी की अवधि बढ़ा दी जाती है, लेकिन इस बार अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। शिक्षा विभाग के इस कैलेंडर पर अभिभावक भी सवाल उठा रहे हैं।
अभिभावकों की मानें तो सामान्य मौसम में छुट्टी का कोई औचित्य नहीं बनता। यही हाल रहे तो बच्चे सर्दी के कारण बीमार पड़ जाएंगे।
यह बोले संघ के पदाधिकारी
सर्दी बढ़ने पर छुट्टी बढ़ा दी जाती है, लेकिन इस बार कोई ध्यान नहीं दे रहा। पहली से लेकर 8वीं तक के बच्चों की छुट्टी होनी चाहिए और 12वीं तक के स्कूलों का समय बढ़ना चाहिए। संघ की तरफ से इसके लिए मांग की जाएगी।
- रामकिशन पूनिया, राज्य उपप्रधान, हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ।

Jan 19, 2016

Theory date sheet for B.Ed. Reapper/Additional Examination Jan, 2016

Theory date sheet for B.Ed. Reapper/Additional Examination Jan, 2016

Date
Paper
28.01.2016
Education: Philosophical and Sociological Bases
29.01.2016
Learner, Learning and Cognition
30.01.2016
Secondary Education in India
30.01.2016
Environmental Education  / Yoga Education
01.02.2016
Curriculum and School Mgt.
01.02.2016
Inclusive Education
02.02.2016
Information Communication and Educational Technology
03.02.2016
Teaching of Math
Teaching of Home Sc.
Teaching of Commerce
Teaching of Art
04.02.2016
Teaching of English
Teaching of Sanskrit
05.02.2016
Teaching of Computer Sc
Teaching of Life Sc.
Teaching of Economics
Teaching of Geography
Teaching of Music
6.02.2016
Teaching of Social Studies
Teaching of Physical Sc.
Teaching of History
Teaching of Civics
08.02.2016
Teaching of Hindi




source

शिक्षकों की नियमित भर्ती न होने पर प्रधान सचिव काे अवमानना नोटिस


जागरण संवाददाता चंडीगढ़। हरियाणा में टीजीटी (ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर) के रिक्त पदों पर नियमित भर्ती न किए जाने पर पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने कड़ा रुख दिखाया है। हाई कोर्ट ने इस संबंध में आदेश का पालन नहीं करने पर राज्य के शिक्षा विभाग की प्रधान सचिव केसनी आनंद अरोड़ा के खिलाफ अवमानना का नोटिस जारी किया है।
हाई कोर्ट ने 15 सितंबर 2015 को टीजीटी कैडर के सभी रिक्त पदों पर नियमित भर्ती करने का अादेश दिया था। मंगलवार को इस मामले पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने इस आदेश का अनुपालना न करने पर अवमानना का नोटिस जारी किया। हाई कोर्ट ने 10 दिन में इस पर जवाब तलब किया है।
गौरतलब है कि हाईकोर्ट की जस्टिस अमित रावल की पीठ ने 15 सितंबर 2015 को हरियाणा सरकार व शिक्षा विभाग को टीजीटी कैडर के पंजाबी, उर्दू, डीपीई व अंग्रेजी भाषा के शिक्षकों के सभी स्वीकृत रिक्त पदों पर नियमित भर्ती करने का आदेश दिया था। लेकिन, चार माह से भी ज्यादा समय बीत जाने के बावजूद शिक्षा विभाग ने अभी तक इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया है। इस पर फतेहाबाद निवासी अरविंद सिंह व अन्य ने हाईकोर्ट में अवमानना याचिका दायर की है।
मंगलवार को मामले में याचिकाकर्ताओं के अधिवक्ता जगबीर मलिक ने कहा कि हाईकोर्ट ने यह आदेश दिया था कि टीजीटी कैडर में पंजाबी,अंग्रेजी,डीपीई आदि के स्वीकृत पदों में से रिक्त बचे सभी पदों पर नियमित भर्ती की जाए। आदेश में यह भी साफ किया गया था कि टीजीटी अंग्रेजी के कुल 5815 स्वीकृत पदों में से विज्ञापित 1035 पदों के अलावा शेष बचे रिक्त पदों पर भी रेगुलर भर्ती की जाए।
उल्लेखनीय है कि शिक्षा विभाग ने टीजीटी अंग्रेजी के 5815 स्वीकृत पदों में से सिर्फ 1035 पदों पर ही भर्ती प्रक्रिया शुरू की है। अधिवक्ता ने हाईकोर्ट को बताया कि वर्ष 2011 में टीजीटी पंजाबी एचटेट पास कर चुके कई याचिकाकर्ताओं के प्रमाणपत्र की वैधता की अवधि इस वर्ष 2016 में समाप्त हो जाएगी और फ़रवरी व मार्च माह में उनकी आयु भी 42 साल की हो जाएगी यानि वो ओवरएज भी हो जाएंगे। इसके साथ ही वे भविष्य में आवेदन करने के योग्य ही नहीं रहेंगे।
उन्होेंने कहा कि हरियाणा सरकार ने पिछले 8-10 साल में नियमित टीजीटी पंजाबी भाषा शिक्षकों की भर्ती का कोई विज्ञापन ही जारी नहीं किया है जबकि ये पद लंबे समय से रिक्त पड़े है। प्रदेश में पंजाबी को दूसरी भाषा का दर्जा भी दिया गया है लेकिन पंजाबी भाषा शिक्षकों के अभाव में बच्चों की पढ़ाई पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।
इस पर हाईकोर्ट की जस्टिस राकेश कुमार जैन की पीठ ने कड़ा रुख अपनाते हुए शिक्षा विभाग की प्रधान सचिव को अवमानना का नोटिस जारी कर दिया। इस मामले पर अगली सुनवाई 29 जनवरी को निर्धारित की गई है।

Jan 14, 2016

83 दिनों से धरने पर बैठे छात्र आज करेंगे शिक्षा मंत्री के सामने प्रदर्शन

दिल्ली के सबसे व्यस्त चौराहे ITO के ठीक सामने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) का दफ्तर है. यह दफ्तर देश में उच्च शिक्षा के लिए नियम और मानक तय करता है. इसके ठीक सामने दिल्ली पुलिस का मुख्यालय है. और यहीं पर पिछले 83 दिनों से छात्र धरने पर बैठे हुए हैं. दिन-रात मौसम, सरकार, और हिंसा से जूझते हुए. ये सभी अलग-अलग यूनिवर्सिटिज के छात्र हैं. इनमें लड़कियां भी शामिल हैं.  ये सारे छात्र Occupy UGC आंदोलन का हिस्सा हैं. आज ये सभी छात्र मानव संसाधन मंत्रालय के सामने प्रदर्शन करेंगे. 
क्या है Occupy UGC
7 अक्टूबर 2015 को यूजीसी ने नॉन नेट फेलोशिप बंद करने की घोषणा कर दी. नॉन नेट फेलोशिप सभी केंद्रीय विश्विद्यालयों में एमफिल और पीएचडी में एडमिशन लेने वाले छात्रों को मिलती है.  इस फेलोशिप के तहत एमफिल के छात्रों को हर महीने 5 हजार रुपये और पीएचडी स्टूडेंट्स को 8 हजार रुपये प्रतिमाह मिलते हैं. इसी राशि से हजारों स्टूडेंट्स अपना हॉस्टल और खाने-पीने का खर्चा निकालते हैं. यूजीसी के फैसले के विरोध में 21 अक्टूबर को यूजीसी के दफ्तर के बाहर छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया. इस प्रदर्शन में अलग-अलग विश्विद्यालयों के छात्र शामिल थे. दिन भर यूजीसी दफ्तर के बाहर जमा छात्रों से मिलने कोई नहीं आया.
83 नॉट आउट
दो बार छात्रों का एक दल यूजीसी बिल्डिंग के अंदर अधिकारियों से मिलने भी गया लेकिन जवाब मिला कि हम कुछ नहीं कर सकते. इस बीच रात के 8 बज चुके थे. प्रेम प्रकाश वर्धा हिंदी विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य में पीएचडी कर रहे हैं. उन्होंने बताया, 'जब हमारी मांग को सुनने तक कोई नहीं आया तो हम सबने आपस में तय किया कि जब तक हमारी बात सुन नहीं ली जाती हम यहां से हिलेंगे नहीं. अगले दिन दशहरा था. इस दिन किसी से मुलाकात नहीं हो पाई. हमने यहां सांकेतिक पुतला दहन भी किया. छात्र वहां से रात में भी नहीं हिले. ये सिलसिला आज तक चल रहा है.
23 को सुबह ही यूजीसी दफ्तर के सामने ढाई सौ से तीन सौ पुलिस वाले मौजूद थे. पुलिस प्रदर्शन कर रहे सारे छात्रों को बसों में भरकर हरियाणा बॉर्डर के पास ले गई.   हमारे बीच लगभग 14 अलग-अलग संगठन आंदोलन में शामिल थे. दिल्ली के अलावा एएमयू, बीएचयू, एयू सहित देश के कई यूनिवर्सटीज से छात्र मौजूद थे. हमने तब हमने 25 लोगों की एक समिती बनाई जो आंदोलन से जुड़े अहम निर्णय करती है. यूजीसी के फैसले के खिलाफ देश भर में छात्रों ने विरोध किया.  कोलकाता, हैदराबाद सहित अलग अलग यूनिवर्सिटीज में प्रदर्शन हुआ. कोलकाता में तो यूजीसी रिजनल ऑफिस पर जो प्रदर्शन हुआ उसका क्रूरता से दमन किया गया.
लेटलतीफ रिव्यू कमेटी
28 अक्टूबर को मानव संसाधन मंत्रालय ने इस मसले पर रिव्यू कमेटी बनाने की घोषणा की. रिव्यू कमेटी को रिपोर्ट देना था कि स्कॉलरशिप बढ़ाना है या खत्म करनी है. इसके अलावा कमेटी को यह भी तय करना था कि स्कॉलरशीप देने के लिए मेरिट और आर्थिक आधार के नियम तय करने की भी जिम्मेदारी दी गई. साथ ही कमेटी को इस पर भी सुझाव देना था कि कैसे नॉन नेट फेलोशिफ को स्टेट यूनिवर्सिटी में लाया जा सकता है. छात्रों ने रिव्यू कमेटी के गठन का विरोध किया. प्रेम प्रकाश कहते हैं, 'कमेटी बनाने की मंशा पर ही शक है. हमारी मांग है कि हर रिसर्च करने वाले छात्र को स्कॉलरशिप मिले लेकिन रिव्यू कमेटी इसके लिए मेरिट या आर्थिक आधार जैसे फिल्टर सुझाने वाली थी.' बहरहाल रिव्यू कमेटी को दिसंबर में अपनी रिपोर्ट देनी थी जो वो अभी तक नहीं दे पाई है.
गेट पर मिलीं स्मृति ईरानी
21 अक् टूबर से यूजीसी मेन गेट के सामने छात्र दिन-रात बैठे रहे लेकिन शिक्षा मंत्री से उनकी मुलाकात 5 नवंबर को हो पाई. प्रेम प्रकाश बताते हैं, 'पांच नवंबर को  एमएचआरडी के सामने  प्रदर्शन किया गया.  लेकिन हमेंं मेन गेट के बाहर ही रोक दिया गया.  हम सड़क पर ही थे कि अंदर से केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी बाहर आईं. उन्होंने कहा कि हमने पहले ही कह दिया है कि हम नॉन नेट फेलोशिप खत्म नहीं कर रहे. और आगे क्या फैसला होगा वो रिव्यू कमेटी के आधार पर ही होगा. इसके बाद वो अंदर चली गईं. मंत्री जी ने हमें रटा-रटाया जवाब दिया जिससे हम संतुष्ट नहीं थे इसलिए प्रदर्शन जारी रहा.'
छात्रों पर बरसी लाठी और पुलिस पर हुआ मुकदमा
प्रेम प्रकाश बताते हैं, '9 दिसंबर को हमने एक नेशनल मार्च निकाला. इस दिन पुलिस सीधे-सीधे लोगों के सर पर लाठी मार रही थी. महिला छात्राओं को भी पुरुष पुलिसकर्मी पीट रहे थे. इसके बाद सबको पार्लियामेंट थाने में बंद कर दिया गया. उस दिन 12 लोग एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती थे.  हमने पुलिस को कहा कि यह जो बुरी तरह से हमें पीटा गया है महिला छात्राओं को पुरुष पुलिसवालों ने पीटा है इस पर एक एफआईआर दर्ज किया जाए. पुलिस ने कहा कि ऐसी कोई प्रक्रिया ही नहीं है. इसके बाद कई संगठनों के दबाव के बाद पुलिस ने हमारी शिकायत दर्ज की.
विद्रोही स्थल

इस विरोध में शामिल छात्र देवेश ने एक बेहद खास जानकारी दी.   देवेश ने बताया, 'प्रख्यात क्रांतिकारी कवि रमाशंकर यादव 'विद्रोही '  भी यहां दो बार आए थे. उन्होंने प्रदर्शन में हिस्सा लिया, कविताएं सुनाई. 9 दिसंबर को हमने मार्च कॉल किया था. 8 दिसंबर को इसमें हिस्सा लेने विद्रोही जी आए. उनकी तबीयत ठीक नहीं थी. उन्होंने कहा मैं लेटना चाहता हूं. वो यहीं पंडाल में लेट गए. वहां उनकी तबीयत खराब होने लगी. उनको सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. हमारे कुछ साथी उनको ऑटो में लेकर एलएनजेपी अस्पताल ले गए. वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस जगह को हम विद्रोही स्थल के तौर पर याद करते हैं. हमने तय किया है कि आगे भी यहां कोई प्रदर्शन होगा तो इस जगह को विद्रोही स्थल ही बुलाया जाएगा.
अब सुनिए एक कहानी...
जापान के एक गांव कामी शिराताकी के रेलवे स्टेशन को 3 साल पहले सरकार ने बंद करने का फैसला किया था. लेकिन जब वहां की सरकार को पता चला कि हाईस्कूल में पढ़ने वाली एक लड़की वहां से रोजाना स्कूल जाती है और स्कूल तक पहुंचने के लिए ट्रेन के अलावा और कोई जरिया नहीं है. इस पर सरकार ने फौरन लड़की के लिए ट्रेन को दोबारा शुरू करने का ऑर्डर दिया. साथ ही यह भी कहा कि लड़की के ग्रेजुएशन पास होने तक ट्रेन जारी रहेगी. ट्रेन का शेड्यूल भी लड़की के स्कूल की टाइमिंग पर ही रखा गया. एक तरफ जापान की सरकार शिक्षा के प्रति इतनी संवेदनशील है वहीं भारत में देश की राजधानी में पिछले 83 दिनों से छात्र धरने पर बैठे हैं लेकिन सरकार के पास इनसे मिलने तक का वक्त नहीं है. छात्र 13 जनवरी को मानव संसाधन मंत्रालय के सामने प्रदर्शन करेंगे. अब थके मगर जोश से भरे इन छात्रों की निगाह सरकार के रवैये पर है. 

INFOLINK